ध्‍येय

  • अंतरराष्ट्रीय मानको के अनुरूप उच्च स्‍तरीय उत्पादों के विकास के लिए पारंपरिक कम उपयोग में लाए गए और कम मूल्यवान जैवसंसाधन का उपयोग।
  • वैश्विक मानकों के अनुरूप कुशल मूल्यांकन उपायों का विकास

लक्ष्‍य

  • उच्‍च गुणवतायुक्‍त खाद्य, न्‍यूट्रास्‍यूटिकल उत्‍पाद और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर स्वीकार्य मानकों के अनुरूप गुणवता मूल्‍यांकन

गतिविधियां

  • चाय एवं स्‍थानीय जैवसंसाधनों से न्‍यूट्रास्‍यूटिकल उत्‍पादों को विकसित करना
  • स्थानीय खाद्य जैव संसाधनों के आधार पर गैर पारंपरिक खाद्य उत्पादों का विकास
  • संस्‍थान द्वारा विकसित अणुओं/ उत्‍पादों का गुणवत्ता नियंत्रण, सुरक्षा / विषाक्तता और प्रभावकारिता का मूल्यांकन
  • गलुटिन मुक्‍त उत्‍पाद
  • बक बीट
  • न्‍यूट्रीमिक्‍स पादडर और न्‍यूट्रीबार
  • चाय केटेकिन / पेय और चाय आधारित मूल्‍यवर्धित उत्‍पाद
  • निम्‍न के लिए तैयार उपाय
  • घाव भरने के लिए
  • हृदयरोग
  • मधुमेहरोधी
  • नयूरोप्रोटेक्टिव
  • मिरगी

प्रभागाध्यक्ष

डॉ. शशी भूषण

वरि.वैज्ञानिक एवं प्रभारी

ईमेल :- 

फोन :- +91-1894-233339 (0) इंटरकॉम 387